Jiddu Krishnamurti Books Pdf

Jiddu Krishnamurti Books Pdf, Jiddu Krishnamurti Books Pdf Free Download, Jiddu Krishnamurti Books Pdf Hindi, Jiddu Krishnamurti Books Pdf Free, Jiddu Krishnamurti Books in Hindi Pdf, Jiddu Krishnamurti Books Free Download Pdf, Jiddu Krishnamurti Books Pdf Download | अगर आप भी इन सभी क्वेरीज के लिए पीडीएफ फाइल खोज रहे है तो आप बिल्कुल सही जगह पर आये हुए है | आज हम इस पोस्ट की मदद से आप को पूरी जानकारी देने जा रहे है और पीडीएफ फाइल की लिंक भी प्रदान करेंगे |

नमस्कार दोस्तों आप का स्वागत है आप के अपने ब्लॉग बीइंग हिन्दी पर | आज का हमरा विषय है Jiddu Krishnamurti Books Pdf के बारे में | आज हम जे कृष्णामूर्ति की पुस्तक ध्यान (Meditations) के बारे में बात करेंगे |

Jiddu Krishnamurti Books Pdf
Jiddu Krishnamurti Books Free Download Pdf

Jiddu Krishnamurti Books Pdf Hindi

मनुष्य ने अपने संघर्षो से पलायन करने के लिए अनेक प्रकार के ध्यान का आविष्कार कर लिया है | इन सभी का आधार है अभीप्सा, संकल्प एवं उपलब्धि की उत्कंठा, और इनमे निहित है द्वन्द तथा कही पहुचने के लिए संघर्ष |

जान-बूझकर और सोच-समझकर किया जाने वाला यह प्रयास हमेशा संस्कारबद्ध मन की सीमओं में ही होता है, और इसमें कोई स्वातंत्र्य नही है | ध्यान करने की सारी चेष्टा और सारा आयोजन ध्यान का निषेध है |

ध्यान का अर्थ है विचार का अंत हो जाना और तभी एक भिन्न आयाम प्रकट होता है जो समय से परे है |

ध्यान जीवन की महानतम कलाओ में से एक है – बल्कि शायद यही महानतम काला है | यह कला संभवतः दूसरे से नही सीखी जा सकती और यही इसकी सौन्दर्यता है |

ध्यान की कोई तकनीक और तरकीब नही होती, इसलिए इसका कोई आधिकारी और दावेदार भी नही होता | जब आप स्वयं का निरीक्षण करते हुए अपने बारे में सीखते है, अर्थात किस तरह आप खाते पीते है, किस ढंग से आप चलते फिरते है, क्या बातचीत और गपशप करते है, आपका ईर्ष्या करना, नफरत करना- जब आप अपने भीतर और बहार की इन सारी चीजों के प्रति सजग और सचेत होते है, बिना किसी काट-छाट के, तो यही ही ध्यान का अंग है |

ध्यान का अर्थ यह पता लगाना है कि आप अपनी सारी गतिविधियों और अपने सारे अनुभवों समेत मस्तिष्क क्या पूर्ण रूप से शांत हो सकता है |

Jiddu Krishnamurti Books Pdf Free Details

ध्यान मन के भीतर की वह ज्योति है जो क्रिया के मार्ग को आलोकित करती है और इस ज्योति के बिना प्रेम का कोई अस्तित्व नही है |

Book NameMeditations (ध्यान)
Author NameJ Krishnamurti
File TypePdf
Pdf Size1.32 MB
Total Pages136
Meditations Book Pdf Details

ध्यान का अर्थ है ऊर्जा का समग्र रूप से निर्बंध और निर्मुक्त हो जाना |

ध्यान एकाग्रता नही है | एकाग्रता का अर्थ है बहिष्कार, अलगाव, प्रतिरोध और संघर्ष | एक ध्यानपूर्ण मन एकाग्र हो सकता है लेकिन एक एकाग्र मन ध्यानपूर्ण नही हो सकता है |

Jiddu Krishnamurti Books Pdf Free Download

अगर आप इस पुस्तक को डाउनलोड करना चाहते है तो आप नीचे दिये गये लिंक से फ्री में डाउनलोड कर के पढ़ सकते है |

अगर आप इस पुस्तक को हार्ड कॉपी में पढना चाहते है तो आप इस किताब को नीचे दिये गये लिन्क पर क्लिक कर के अमेज़न से खरीद सकते है |

अंतिम शब्द (Final Word) :

तो दोस्तों आज हमने अपने इस पोस्ट में Jiddu Krishnamurti Books Pdf के ध्यान किताब के बारे में पूरी जानकारी दिया है | आशा करता हु कि आप को हमारा यह लेख अच्छा लगा होगा | अगर आप का कोई सुझाव हो तो हमें कमेन्ट बॉक्स में ज़रूर बताये | धन्यवाद

इसे भी पढिये :

Leave a Comment