पुराणों की संख्या कितनी है | Purano Ki Sankhya Kitni Hai

पुराणों की संख्या कितनी है | Purano Ki Sankhya Kitni Hai | पुराण क्या हैं | अगर आप भी इन प्रश्नों का उत्तर ढूढ़ रहे है तो आप एकदम सही जगह पर आये हो | यहाँ पर हम इस लेख की मदद से सारे प्रश्नों के उत्तर देने का प्रयाश करेंगे |

नमस्कार दोस्तों आप का बहुत स्वागत है हमारे ब्लॉग बीइंग हिन्दी पर | चलिये अब बात करते है अपने आज के विषय पुराणों की संख्या कितनी है | Purano Ki Sankhya Kitni Hai पर |

Purano Ki Sankhya Kitni Hai

पुराणों की संख्या कितनी है | सभी पुराणों के नाम

जैसे कि हम सभी जानते है पुराण हिन्दू धर्म का प्राचीनतम ग्रंथ में से एक है | यह वैदिक काल के बहुत बाद के समय का ग्रंथ है | पुराण का शाब्दिक अर्थ “प्राचीन या पुराना” है |

पुराणों की कुल संख्या 18 है | सभी पुराणों में अलग अलग देवी देवताओ को ध्यान में रख कर पाप और पुण्य, धर्म और अधर्म, कर्म और अकर्म की गाथाये लिखी गयी है |

Purano Ki Sankhya Kitni Hai18
पुराणों की संख्या कितनी हैअट्ठारह

पुराणों को मुख्यतः संस्कृत भाषा में लिखा गया है | लेकिन कुछ पुराण ऐसे भी है जिनकी संरचना क्षेत्रीय भाषा में भी की गयी है |

सभी 18 पुराणों के नाम नीचे लिस्ट में दिये गए है | जिनका वर्णन विष्णु पुराण में मिलता है | और इन्ही सभी पुराणों को ही महापुराण भी कहा गया है |

  • ब्रह्म पुराण
  • पद्म पुराण
  • विष्णु पुराण
  • वायु पुराण – ( शिव पुराण)
  • भागवत पुराण – ( देवीभागवत पुराण)
  • नारद पुराण
  • मार्कण्डेय पुराण
  • अग्नि पुराण
  • भविष्य पुराण
  • ब्रह्मवैवर्त पुराण
  • लिङ्ग पुराण
  • वाराह पुराण
  • स्कन्द पुराण
  • वामन पुराण
  • कूर्म पुराण
  • मत्स्य पुराण
  • गरुड पुराण
  • ब्रह्माण्ड पुराण

पुराणों में श्लोको की संख्या

पुराण के नामश्लोको की संख्या
ब्रह्म पुराण14000
पद्म पुराण55000
विष्णु पुराण23000
वायु पुराण24000
भागवत पुराण18000
नारद पुराण25000
मार्कण्डेय पुराण9000
अग्नि पुराण15000
भविष्य पुराण14500
ब्रह्मवैवर्त पुराण18000
लिङ्ग पुराण11000
वाराह पुराण24000
स्कन्द पुराण81100
वामन पुराण10000
कूर्म पुराण17000
मत्स्य पुराण14000
गरुड पुराण19000
ब्रह्माण्ड पुराण12000

पुराणों से सम्बंधित कुछ प्रश्न (FAQs):

महापुराणों की संख्या कितनी है?

उत्तर- महापुराणों की कुल संख्या 18 है |

18 पुराणों में सबसे बड़ा पुराण कौन सा है?

उत्तर- सबसे बड़ा पुराण स्कन्द पुराण है | जिसमे भगवान शिव के पुत्र स्कन्द (कार्तिकेय, सुब्रह्मण्य) का उल्लेख किया गया है |

सबसे छोटा पुराण कौन सा है?

उत्तर- सबसे छोटा पुराण मार्कण्डेय पुराण है |

सबसे पुराना पुराण कौन सा है?

उत्तर- सबसे पुराना पुराण ब्रम्ह पुराण है |

निष्कर्ष ( Conclusion ) :

तो दोस्तों आज हमने इस लेख की मदद से जाना कि पुराणों की संख्या कितनी है | Purano Ki Sankhya Kitni Hai और साथ में उनके नाम भी | इस पोस्ट को लिखने का उद्देश्य बस सभी लोग तक सरल भाषा में पुराण के बारे में जानकारी प्रदान करना है | अगर आप को हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा हो या फिर हमसे कुछ छूट गया हो तो कमेन्ट बॉक्स में जरूर बताये | पूरी पोस्ट को पढने के लिये आप का बहुत बहुत धन्यवाद |

इसे भी पढ़े :

Leave a Comment